रायपुर

Big Breaking: 10 जिलों के 15 नगरीय निकायों में 20 दिसंबर को वोटिंग, 23 को मतगणना, राज्य निर्वाचन आयुक्त ने की तारीखों की घोषणा, इन निकायों में होंगे आम चुनाव

रायपुर। (Big Breaking) 10 जिलों के 15 नगरीय निकायों में चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है. राज्य निर्वाचन आयुक्त ठाकुर राम सिंह ने दोपहर 12 बजे से प्रेस कॉन्फ्रेंस ली. जिसमें उन्होंने कहा कि 20 दिसंबर को वोटिंग और 23 दिसबंर को मतगणना होगी. (Big Breaking)  ये प्रेस कॉन्फ्रेंस निर्वाचन भवन सेक्टर 19 नार्थ ब्लॉक नवा रायपुर अटल नगर में आयोजित की गई. इसी के साथ जहां चुनाव होने वाले हैं. वहां आचार संहिता लागू हो गई है.

निर्वाचन की सूचना का प्रकाशन 27 नवम्बर को सम्बंधित जिले निर्वाचन अधिकारी द्वारा जारी किया जाएगा. सीटों के आरक्षण के सम्बंध में 27 नवम्बर को सूचना प्रकाशन होगा. मतदान केंद्रों की सूची रिटर्निंग अफसर द्वारा 27 नवम्बर को दी जाएगी. नाम निर्देशन पत्र प्राप्त करने की तारीख भी उसी दिन दी जाएगी. नाम निर्देशन प्राप्त करने की अंतिम तिथि 3 दिसम्बर. नाम वापसी की तारीख 6 दिसंबर. प्रत्याशियों की सूची 6 दिसंबर को जारी होगी.

(Big Breaking) 10 जिलों के 15 नगरीय निकायों में आम चुनाव होंगे, जिसमें से चार नगर पालिक निगमों- बीरगांव, भिलाई, भिलाई-चरोदा और रिसाली शामिल है. पांच नगर पालिका परिषदों में सारंगढ़, बैकुंठपुर, शिवपुर चर्चा, जामुल, खैरागढ़, छः नगर पंचायतों -प्रेमनगर,मारो, नरहरपुर, कोंटा, भैरमगढ़ और भोपालपट्टनम में चुनाव होंगे.

तैयारियों को लेकर 12 नवंबर को रखी गई थी  उप जिला निर्वाचन अधिकारी की बैठक

दरअसल तैयारियों को लेकर इससे पहले उप जिला निर्वाचन अधिकारियों की एक बैठक 12 नवंबर को रखी गयी थी, जिनमें चार जिलों की तैयारियां अधूरी पायी गई थी, 17 नवंबर तक कमियां दूर करने कहा गया था. लेकिन इसके बाद भी तीन जिलों में फिर से कमियां मिली।

कांग्रेस और भाजपा समेत अन्य राजनीतिक दल तैयारियों में जुटे

वहीं कांग्रेस और भाजपा समेत अन्य राजनीतिक दल भी तैयारी में जुट गए है। प्रमुख विपक्षी दल भाजपा ने तो अपनी तैयारी तेज कर दी है। अपने प्रकोष्ठों का विस्तार कर दिया है और पदाधिकारियों की घोषणा पहले ही हो गई है। इधर कांग्रेस ने भी एड़ी चोटी का दम लगा दिया है। कांग्रेस ने पार्टी और संगठन स्तर पर तैयारियां पूरी कर ली है। अब पार्टी का पूरा फोकस हर बूथ को मजबूत करने पर है। वैसे कांग्रेस-भाजपा में ही सीधा मुकाबला होता दिख रहा है। तीसरी ताकत का दावा करने वाली जोगी कांग्रेस के लगातार टूटने की वजह से कमजोर पड़ती जा रही है।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: