छत्तीसगढ़

Bastar के साहित्यकार हरिहर वैष्णव का निधन, मुख्यमंत्री ने जताया शोक, कहा- लोक साहित्य की समृद्ध विरासत को सहेजने में अपना जीवन किया समर्पित

रायपुर। Bastar के साहित्यकार हरिहर वैष्णव के निधन पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि यह साहित्य जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति है।

बता दें कि साहित्यकार हरिहर वैष्णव बस्तर के लोक साहित्य की समृद्ध विरासत को सहेजने का काम करते थे। वैष्णव Bastar के लोक साहित्यकार थे, उन्होंने जनजातियों में प्रचलित कहानियों, गीतों को लिपिबद्ध किया। हिंदी के साथ ही Bastar की स्थानीय बोलियों, हल्बी, भतरी में भी उन्होंने साहित्य का सृजन किया ।

Balrampur: पंडो जनजाति की एक और महिला की मौत, कुपोषण और खून की कमी से 4 महीने में 23 लोगों की मौत..

सीएम बघेल ने कहा है कि उन्होंने कहा कि यह साहित्य जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति है। उन्होंने बस्तर के लोक साहित्य की समृद्ध विरासत को सहेजने में अपना जीवन समर्पित कर दिया। मुख्यमंत्री ने ईश्वर से उनकी आत्मा की शान्ति और परिजनों को दुःख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: