Home क्राईम Video कार में लिफ्ट देकर घर छोड़ने की कहीं बात, फिर दिया...

Video कार में लिफ्ट देकर घर छोड़ने की कहीं बात, फिर दिया घिनौने वारदात को अंजाम, ऐसे चढ़े पुलिस के हत्थे

उपेन्द्र त्रिपाठी@बिलासपुर। नाबालिग स्कूली छात्रा के साथदुराचार करने वाले मुख्य आरोपित सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पड़ोस में रहने वाले युवक ने कार से घर छोड़ने के बहाने अपने साथियों के साथ मिलकर घृणित वारदात को अंजाम दिया था। सरकंडा पुलिस की तत्परता से मुख्य आरोपित सहित सभी आरोपित को गिरफ्तार […]

Video कार में लिफ्ट देकर घर छोड़ने की कहीं बात, फिर दिया घिनौने वारदात को अंजाम, ऐसे चढ़े पुलिस के हत्थे

उपेन्द्र त्रिपाठी@बिलासपुर। नाबालिग स्कूली छात्रा के साथदुराचार करने वाले मुख्य आरोपित सहित पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। पड़ोस में रहने वाले युवक ने कार से घर छोड़ने के बहाने अपने साथियों के साथ मिलकर घृणित वारदात को अंजाम दिया था।

सरकंडा पुलिस की तत्परता से मुख्य आरोपित सहित सभी आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। दरअसल 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के दिन स्कूली छात्रा अपनी छोटी बहन के साथ देवकीनंदन स्कूल में होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्रम को देखकर घर लौट रही थी। जब दोनों जबरापारा चौक पहुंचे तो उनके पड़ोसी दीपक सिंह ने अपनी कार में लिफ्ट देकर उसे घर छोड़ने की बात कही। उस कार में दीपक सिंह के साथ उसके कुछ दोस्त भी सवार थे।

शुरू में तो किशोरी ने इसके लिए मना किया लेकिन जोर देने पर वह अपनी बहन के साथ आरोपित दीपक सिंह ने घर छोड़ने की बजाय उन्हें लेकर बिरकोना क्षेत्र के सुनसान इलाके में पहुंच गए। आरोपित दीपक ने अपने साथियों योगेश वर्मा और राहुल देवांगन को बुलाया। मुख्य आरोपित योगेश वर्मा ने दुराचार किया। इस दौरान छात्रा की छोटी बहन कार में ही बैठी हुई थी। किशोरी को मारा पीटा और उसे डरा धमका कर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया। जिसके बाद उसने यह बात किसी को नहीं बताने की धमकी दी और मौके से फरार हो गया। इस घटना के बाद कार चालक ने पीड़िता और उसकी छोटी बहन को सरकंडा पुल के पास छोड़ा और सब फरार हो गए।

घर लौट कर पीड़ित छात्रा ने घटना का जिक्र अपने पिता और सहेली से किया। जिसकी शिकायत सरकंडा थाना में 26 जनवरी को ही की गई। सरकंडा थाना प्रभारी जयप्रकाश गुप्ता ने तत्परता दिखाते हुए सभी छह आरोपियों को अपनी टीम की मदद से गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद सरकंडा थाने में पास्को एक्ट और धारा 376, 34 के तहत मामला पंजीबद्ध कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी गई। इस मामले में मुख्य आरोपित सहित 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिसमें से 3 नाबालिग हैं।