सरगुजा-अंबिकापुर

Ambikapur: विकास के दावों से कोसो दूर सरगुजा जिले के गांव….अधिकारियों की करतूतों ने कागज में दिखा डाला सड़क निर्माण…..अब ग्रामीणों का कहना है कि-गांव का तस्वीर ही बदल डाला, Video

शिव शंकर साहनी@अंबिकापुर। (Ambikapur) राज्य में विकास को लेकर एक और बड़े-बड़े दावे किये जा रहे हैं. लेकिन सरगुजा जिले के अधिकारियों और कर्मचारियों की कारगुजारियों से विकास कोसों दूर नजर आती है. हम बात कर रहे हैं एक ऐसे गांव की जहां अधिकारी और कर्मचारियों की मिलीभगत ने गांव के विकास को ही बदल डाला.

(Ambikapur) हर गांव की मूलभूत सुविधा सड़क विकास की पहली सीढ़ी होती है, लेकिन क्या होगा अगर अपने करीबी हितैषियों को लाभ पहुंचाने के लिए अधिकारी विकास को ही बदल दे. जी हां सरगुजा जिले के नगर पंचायत लखनपुर में  ऐसा नजारा देखने को मिला. जहाँ  अधिकारियों ने शिवपुर से जयपुर तक बनने वाली ग्रामीण सड़क को नगर पंचायत लखनपुर के माँ महामाया वार्ड क्रमांक 4  में बना डाला. इतना ही नहीं जिम्मेदार अधिकारी अपने करतुत को छिपाने सड़क पर लगे साइन बोर्ड के लिखे नाम सहित लागत और कार्य पूर्ण की तारीख तक को बदल डाला.

(Ambikapur) शिवपुर और जयपुर के ग्रामीण अच्छी सड़क की चाह में सरकार से मांग की थी. वही मुख्यमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से लगभग 71 लाख 79 हजार की  लागत से सड़क पास हुआ. लेकिन अधिकारी और ठेकेदार अपने हितैषियों को निजी लाभ पहुंचाने गांव में सड़क नहीं बना कर नगर पंचायत में बना डाला. मीडिया हस्तक्षेप करने पर अधिकारियों ने आनन-फानन में सड़क पर बने साइन बोर्ड पर लागत सहित नाम ही बदल डाला. इस बात की जानकारी जब जिले के कलेक्टर को दी गई तो जांच कर कार्रवाई करने की बात कह रहे हैं.

बहरहाल गांव के ग्रामीण आज भी सरकार से अपनी मांगी सड़क का इंतजार कर रहे हैं. जिससे गांव का विकास हो सके. लेकिन उन्हें क्या पता कि अधिकारी और जिम्मेदार जनप्रतिनिधियों ने उनके गाँव की विकास को ही बदल डाला. लिहाजा जिले के मुखिया के संज्ञान में आने के बाद जिम्मेदार अधिकारियों पर क्या कार्यवाही होती है या ग्रामीण बिना विकास के साथ जीने को मजबूर कब तक होते रहेंगे. यह तो आने वाला वक़्त ही बताएगा.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: