सरगुजा-अंबिकापुर

Ambikapur: अब तक नहीं हुआ धान का उठाव, समिति कर रही मांग, परेशान होकर कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

शिव शंकर साहनी@अंबिकापुर।  (Ambikapur) सरगुजा संभाग में धान खरीदी पूर्ण होने के बाद अब तक धान का उठाव नहीं होने से परेशान समितियों द्वारा समिति द्वारा कई बार धान उठाने की मांग की गई है। मगर अब तक समितियों में रखा धान का उठाव नहीं हो सका है। जिससे समिति के लोग काफी परेशान है। अपनी समस्याओं से प्रशासन को अवगत कराने छत्तीसगढ़ प्रदेश सहकारी कर्मचारी संघ ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है।

धान खरीदी वर्ष 2020-21 के नियम में बहुत सारी समस्याएं

(Ambikapur) छत्तीसगढ़ प्रदेश सहकारी कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष प्रभाकर सिंह ने बताया कि धान खरीदी वर्ष 2020-21 के नियम में बहुत सारी समस्याएं हैं। जिनके संशोधन के लिए सहकारिता मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम व खाद्य मंत्री अमरजीत भगत सहित कई लोगों से समिति द्वारा संपर्क किया गया और अपनी समस्याओं से अवगत कराया गया है। मगर अब तक समितियों की समस्या पर किसी भी प्रकार का निराकरण नहीं किया गया है। जिसे कर्मचारी काफी नाराज हैं।

Rajnandgaon: गिरफ्तार हुए शराब दुकान में डकैती के आरोपी, 5 दिन के भीतर ही पुलिस को मिली सफलता, घटना में प्रयुक्त औजार एवं कार जब्त

धान खरीदी के बाद धान उठाने का समय महज 72 घंटे

(Ambikapur) समिति की मांग है कि धान खरीदी के बाद धान उठाने का समय 72 घण्टे दिया गया है। उस नियम को लागू करने की मांग भी की गई है। साथ ही धान खरीदी में मिलने वाली प्रसंगिक और प्रोत्साहन राशि को बढ़ने की भी मांग समिति द्वारा की गई है। समिति द्वारा बताया गया कि धान खरीदी का समय फिर से नजदीक आ गया है और पिछला जो धान खरीदी है। वह सही समय पर परिवहन नहीं होने के कारण समिति प्रबंधक पर रिकवरी सहित एफआईआर करने की धमकी दी जा रही है और जबरन रकम भी भरवाई जा रही है।  जिसे समिति के कई कर्मचारी भयभीत और परेशान हैं। वहीं आने वाले समय में धान खरीदी नीति में संशोधन नहीं होता है तो इस वर्ष होने वाले धान खरीदी का समितियों द्वारा बहिष्कार किया जाएगा। उस माध्यम से धान खरीदी कराएं समिति प्रबंधक खुद को धान खरीदी कराने में पूर्ण रूप से असहमत बताया है।

Ambikapur: राजीव भवन बनने के बाद पहली बार जनदर्शन कार्यक्रम का आयोजन, संभाग स्तर के समस्याओं का निराकरण

सरकारी सेवा समिति के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने समितियों द्वारा की गई मांग को उच्च अधिकारियों तक प्रेरित करने की बात की है। जिनसे इनकी मांगे पूरी हो सके और आने वाले धान खरीदी के समय पर किसी प्रकार की दिक्कत ना हो सके

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: