सरगुजा-अंबिकापुर

Ambikapur: नाबालिग का अपहरण कर दुष्कर्म, 2 आरोपी पहुंचे जेल के सलाखों के पीछे

शिव शंकर साहनी@उदयपुर। (Ambikapur) सरगुजा जिले के उदयपुर थाना क्षेत्र में एक 12 वर्षीय नाबालिग बालिका का अपहरण, बलात्कार एवं मारपीट का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए उदयपुर पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुए घटना में शामिल दोनों ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

घटना के बारे में जानकारी देते हुए उदयपुर थाना प्रभारी धीरेंद्र नाथ दुबे ने बताया कि दिनांक 30 अगस्त 2021 को सायं 4 बजे करीब मोबाइल से 12 वर्षीय नाबालिग के अपहरण की सूचना प्राप्त हुई थी। घटना स्थल का निरीक्षण कर एवं परिजनों की रिपोर्ट पर 363 का अपराध पंजीबद्ध किया गया।

Chhattisgarh देश का पहला राज्य, जिसने भूमिहीन कृषि मजदूर परिवारों को प्रतिवर्ष 6 हजार रूपए अनुदान देने लागू की योजना भूपेश बघेल

(Ambikapur) उच्चाधिकारियों को घटना से अवगत कराते हुए वरिष्ठ अधिकारियों पुलिस अधीक्षक अमित तुकाराम कांबले अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विवेक शुक्ला के मार्गदर्शन में एसडीओपी अखिलेश कौशिक के नेतृत्व में उदयपुर पुलिस की टीम ने मामले की विवेचना शुरू की तथा

पीड़िता के परिजनों के बताये अनुसार संदेहियों की खोजबीन शुरू कर आरोपियों के घरों में दबिश दी परंतु आरोपी घर पर नही मिले।

(Ambikapur) ग्राम लक्ष्मणगढ़ के रामकुमार से पूछताछ करने पर उसने राजेश सोनी द्वारा नाबालिग को उठाकर बाईक से ले जाना बताया।

31 अगस्त की सुबह नाबालिग बालिका को मुख्य आरोपी उसे उसके गांव छोड़कर चला गया था। गांव से ही लड़की को बरामद कर घटना के बारे में पूछताछ की गई तथा उसका चिकित्सकीय परीक्षण भी कराया गया। जिसमें पीड़िता के साथ दुष्कर्म व मारपीट का मामला भी सामने आया।इस दौरान पुलिस ने आरोपी की खोजबीन जारी रखी।

काफी मशक्कत के बाद अन्ततः घटना के मुख्य आरोपी राजेश सोनी उर्फ फूल सिंह उर्फ बुतरू को ग्राम कुरमेन चौकी कुन्नी से 31 अगस्त को गिरफ्तार कर लिया गया ।

घटना में शामिल आरोपियों के विरुद्ध पुलिस ने पूर्व में दर्ज 363 के अपराध में 376 तथा पास्को एक्ट की धारा 4 जोड़कर 24 घंटे के भीतर ही उदयपुर पुलिस ने मामले के आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेज दिया है।

उक्त कार्यवाही में एसडीओपी अखिलेश कौशिक थाना प्रभारी धीरेंद्र नाथ दुबे सहायक उप निरीक्षक राजेंद्र प्रताप सिंह प्रधान आरक्षक संतोष गुप्ता, शत्रुघन सिंह , आरक्षक अमित विश्वकर्मा, सिकंदर आलम, सतीश चौहान महिला आरक्षक सुनीति राजवाड़े ,अमरावती राजवाड़े एवं थाना के अन्य स्टाफ सक्रिय रहे।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: