सरगुजा-अंबिकापुर

Ambikapur: आखिर क्यों JCCJ ने राज्यपाल, मुख्यमंत्री और डीजीपी के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन, जानिए

शिव शंकर साहनी@ अंबिकापुर। (Ambikapur) सरगुजा संभाग में सियासत का पारा गर्म है. इसी कड़ी में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे सरगुजा संभाग के पदाधिकारियों के द्वारा सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी के विधायकों के द्वारा शहर का माहौल विषाक्त किए जाने तथा प्रशासनिक शक्तियों का दुरुपयोग करने पर निष्पक्षता पूर्वक जांच कर समुचित कार्रवाई किए जाने की मांग की हैं. (Ambikapur) इधर संभागीय अध्यक्ष दानिश रफीक के नेतृत्व में राज्यपाल, मुख्यमंत्री  एवं डीजीपी को कलेक्टर सरगुजा के माध्यम से ज्ञापन देकर निष्पक्ष जांच की मांग की है.

(Ambikapur) ज्ञापन देते समय जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे के संभागीय अध्यक्ष दानिश रफीक ने कहा कि अंबिकापुर मुख्यालय विशेष तौर पर राजनीतिक, सामाजिक और संप्रदायिक रूप से बहुत ही शांति और अमन प्रिय है, मगर 24 जुलाई  को शहर के बंगाली चौक के पास ओवरटेक के मामले को लेकर रामानुजगंज विधानसभा के विधायक बृहस्पति सिंह के द्वारा जिस प्रकार से छोटी हरकत करते हुए एक झूठा और कल्पनीय अपराध नगर कोतवाली अंबिकापुर में दर्ज कराया गया है.जिससे शहर का राजनीतिक और सामाजिक तौर पर माहौल विषाक्त होता जा रहा है.

IND vs SL 2nd T20I: क्रिकेटर क्रुणाल पंड्या कोरोना संक्रमित, दूसरा टी20 स्थगित, अब 28 जुलाई होगा मैच

वैसे भी कांग्रेस पार्टी का यह चरित रहा है कि उनके सदस्य स्वयं की क्षणिक लाभ या स्वयं को सर्व पूरी बताने के लिए किसी भी स्तर तक जा सकते हैं. जिसका जीता जागता नमूना पहली बार इस शहर को देखने को मिला है. जिसमें जिला पुलिस प्रशासन भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है. जिस रुप से जिला पुलिस प्रशासन के द्वारा पूरे शहर में इस घटना को लेकर भय का माहौल बनाया गया है, वह भी कम निंदनीय नहीं है.

Chhattisgarh: साकार हुआ अपने घर का सपना, नक्सल हिंसा पीड़ित अमीरु निशा को मिला पक्का आवास

जनता कांग्रेस मांग करती है कि जल्द से जल्द विधायक बृहस्पति सिंह की विधानसभा से सदस्यता रद्द की जाए. ताकि प्रदेश में एक मैसेज दिया जा सके कि इस तरीके की ओछी राजनीति करने वालों की समाज एवं विधानसभा के अंदर कोई जगह नहीं है।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: