Home हमर प्रदेश (छत्तीसगढ़) रिमझिम बौछारों के बीच संस्कारधानी में निकली झांकी, 90 साल से चली...

रिमझिम बौछारों के बीच संस्कारधानी में निकली झांकी, 90 साल से चली आ रही परंपरा

अवधेश यादव राजनांदगांव। रिमझिम बौछारों के बीच जिले में गुरूवार की रात विसर्जन झांकी निकाली गई। लाखों की संख्या में लोग विसर्जन झांकी देखने संस्कारधानी पहुंचे। हर बार की तरह इस बार भी झांकी में सुरक्षा व्यवस्था चाकचौंबद थी। विभिन्न गणेशोत्सव समितियों के द्वारा इस वर्ष 42 झांकियां निकाली गई। झांकियों में इस बार देशभक्ति […]

50
रिमझिम बौछारों के बीच संस्कारधानी में निकली झांकी, 90 साल से चली आ रही परंपरा

अवधेश यादव
राजनांदगांव। रिमझिम बौछारों के बीच जिले में गुरूवार की रात विसर्जन झांकी निकाली गई। लाखों की संख्या में लोग विसर्जन झांकी देखने संस्कारधानी पहुंचे। हर बार की तरह इस बार भी झांकी में सुरक्षा व्यवस्था चाकचौंबद थी। विभिन्न गणेशोत्सव समितियों के द्वारा इस वर्ष 42 झांकियां निकाली गई।

झांकियों में इस बार देशभक्ति दिखी। साथ ही पुलवामा अटैक सहित एयर स्ट्राईक की झलक झांकी में देखने को मिली। महापौर मधुसूदन ने रामाधीन मार्ग में बने पंडाल से झांकियों का स्वागत किया। साथ ही झांकी का आनंद उठाने आएं लोगों का भी अभिवादन किया। वहीं झांकी रामाधीन, कामठी लाईन, भारत माता चौक और गंज लाइन से होते हुए नंदई चौक पहुंची।

सुरक्षा व्यवस्था चाकचौंबद

शहर में विर्सजन झांकी के दौरान चप्पे-चप्पे पर पुलिस की पैनी नजर रही। पुलिस के 1 हजार से अधिक जवान और अधिकारी ड्यूटी में लगाए गए थे। रिमझिम बारिश के बीच भी शाम 8 बजे से सुबह 9 बजे तक शहर की सड़कों में विर्सजन झांकियां निकली।

कई सालों से चली आ रही परम्परा
शहर में 90 सालों से झांकी निकाली जा रही है। प्रदेश के साथ पूरे देश में संस्कारधानी की झांकी को सराहा जाता है। मध्यप्रदेश, महाराष्ट् के साथ ही छत्तीसगढ़ के कोने कोने से लोग विसर्जन झांकी देखने संस्कारधानी पहुंचते हैं।