क्राईमदेश - विदेश

Narendra Giri Suicide Case: ‘लड़की के साथ गलत काम करते हुए फोटो करेंगा फोटो वायरल’, मौत के बाद सामने आया 8 पेज का सुसाइड नोट

प्रयागराज। (Narendra Giri Suicide Case) अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत में अब 8 पेज का सुसाइड नोट सामने आया है. ,सुसाइड नोट में उन्होंने तीन लोगों को जिम्मेदार ठहराया है. जिनमें आनंद गिरि, लेटे हनुमान मंदिर के पुजारी अद्या तिवारी, संदीप तिवारी को अपनी मौत के लिए जिम्मेदार बताया है. साथ ही उन्होंने कई अहम बातों का उल्लेख किया है.

आनंद गिरि के कारण हूं बहुत विचलित

(Narendra Giri Suicide Case) सुसाइड नोट में महंत नरेंद्र गिरि ने लिखा है कि मैं महंत नरेंद्र गिरि आज आनंद गिरि के कारण बहुत विचलित हो गया. आज हरिद्वार से सूचना मिली कि एक दो दिन में आनंदगिरी मोबाइल के माध्यम से किसी छोटी महिला या लड़की के साथ गलत काम करते हुए फोटो वायरल कर देगा. मैं महंत नरेंद्र गिरि बदनामी के डर से कहां-कहां सफाई देता रहूंगा. मैं जिस सम्मान से जी रहा हूं, तो बदनामी में कैसे जी पाऊंगा. इसलिए आत्महत्या कर रहा हूं.

Chhattisgarh के विभिन्न जिलों में होगी 10 नवीन महाविद्यालय की स्थापना, मंत्रालय से उच्च शिक्षा विभाग ने जारी किया पत्र

मैं आत्महत्या करने जा रहा हूं

(Narendra Giri Suicide Case) 8 पेज के इस सुसाइड नोट के पेज 2 पर लिखा है कि मैं आत्महत्या करने जा रहा हूं. मेरी मौत के जिम्मेदार आनंद जी, अद्या प्रसाद तिवारी, संदीप तिवारी पुत्र अद्या प्रसाद तिवारी होंगे. मेरा प्रयागराज के पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों से अनुरोध है कि मेरी हत्या के जिम्मेदार उपरोक्त लोगों पर कार्रवाई की जाए. ताकि मेरी आत्मा को शांति मिल सके.

Dhamtari: सात निरीक्षकों का तबादला, आदेश जारी, देखिए सूची

पेज पर लिखे ऊं नमोः नारायण

एक पेज पर महंत ने लिखा कि मैं नरेंद्र गिरी, वैसे तो, 13 सितंबर 2021 को आत्महत्या करने जा रहा था लेकिन हिम्मत नहीं कर पाया. मंहत नरेंद्र गिरी ने अपने सुसाइड नोट के हर पन्ने पर नीचे अपना नाम, तारीख लिखते हुए हस्ताक्षर किए है. साथ ही हर पेज पर ऊं नमोः नारायण भी लिखा है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: