छत्तीसगढ़

Chhattisgarh में ओमिक्रॉन के 15 नए केस, प्रदेश में कुल 36 केस, स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्र से मांगी वैरिएंट जांच की सुविधा

रायपुर। करीब एक सप्ताह तक स्थिर रहने के बाद छत्तीसगढ़ में कोरोना का संक्रमण फिर बढ़ने लगा है। इधर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के मामलों में भी तेजी देखने को मिल रही है। ओमिक्रॉन के प्रदेश में 15 नए केस मिले हैं। अब कुल मामलों की संख्या 36 हो गई है। बिलासपुर में सबसे अधिक 8 और राजनांदगांव जिले के 6 केस हैं। रायपुर के भी एक व्यक्ति में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है। यह रिपोर्ट मरीजों के ठीक होने के बाद आई है। इस बीच स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया से फोन पर बात कर रायपुर में ही वैरिएंट की जांच की सुविधा मांगी है।

CG: अब तक राज्य में हो चुकी 82.62 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी, 19 लाख 59 हजार 139 किसानों ने बेचा धान

कोरोना सैंपलों की जीनोम जांच के लिए भुवनेश्वर लैब पर निर्भर

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से चर्चा में टीएस सिंहदेव ने कहा कि छत्तीसगढ़ अभी कोरोना सैंपलों की जीनोम जांच के लिए भुवनेश्वर लैब पर निर्भर है। इस वजह से रिपोर्ट मिलने में भी देरी हो जाती है। प्रदेश में अगर जीनोम जांच की अनुमित मिल जाए तो स्थानीय स्तर जांच हो सकेगी।

दूसरी बीमारियों के लिए भी जीनोम लैब काफी मददगार

उन्होंने कहा कि अभी ओमिक्रॉन समेत कोरोना के अन्य वैरिएंट के अलावा दूसरी बीमारियों के लिए भी जीनोम लैब काफी मददगार होगी। ऐसे में प्रदेश को जल्द ही लैब की अनुमति मिलनी चाहिए। टीएस सिंहदेव इसके पहले भी कई बार केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को जीनोम जांच के लिए पत्र लिख चुके हैं। बातचीत में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने जीनोम लैब की अनुमति जल्द देने का संकेत दिया है।

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: