Home जिले फड़ में थी 7 लाख से ऊपर की रकम, ढाई घंटे होती...

फड़ में थी 7 लाख से ऊपर की रकम, ढाई घंटे होती रही थाने में माथापच्ची, 4 पुलिस गिरफ्त में ..पढ़िए पूरी खबर

बंसत शर्मा@ राजनांदगांव . शहर सहित जिलेभर में जुआ, सट्टा का कारोबार जोरशोर से चल रहा है. जिस पर अंकुश लगाने की बजाए कुछ पुलिस अधिकारियों द्वारा जुआरियों और सट्टोरियों को श्रय दिया जा रहा है. जिसके चलते आए दिन युवा वर्ग इसकी चपेट में आता जा रहा है. कल हुई कार्यवाही पर भी पुलिस […]

फड़ में थी 7 लाख से ऊपर की रकम, ढाई घंटे होती रही थाने में माथापच्ची, 4 पुलिस गिरफ्त में ..पढ़िए पूरी खबर

बंसत शर्मा@ राजनांदगांव . शहर सहित जिलेभर में जुआ, सट्टा का कारोबार जोरशोर से चल रहा है. जिस पर अंकुश लगाने की बजाए कुछ पुलिस अधिकारियों द्वारा जुआरियों और सट्टोरियों को श्रय दिया जा रहा है. जिसके चलते आए दिन युवा वर्ग इसकी चपेट में आता जा रहा है. कल हुई कार्यवाही पर भी पुलिस पर संदेह की सुई घुमती नजर आ रही है.

चिखली पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार कुछ लोग शीतला मंदिर के पास खेत में जुआ खेल रहे थे. जिस पर मुखबीर की सूचना पर रात लगभग 10 बजे कार्यवाही की गई. जिसमें चार लोगों के पास से लगभग 2 लाख 62 हजार 900 रूपए जप्त किए गए है. वहीं जुआ खेलने के लिए लगाई गई लाईट और बैटरी भी जप्त की गई है. पकड़े गए जुआरियों में नरेंद्र यादव राजनांदगांव, धमेंद्र साहू धमतरी, नरेश जसवानी दुर्ग, रवि कुमार रायपुर बताए जा रहे है.

पुलिस की कार्यवाही पर संदेह, फड़की और अड़की का खेल

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिस तरह से जुआ चल रहा था उससे तो ऐसा लग रहा था कि उक्त जुआ में लगभग 10 लाख रूपए की रकम थी. लेकिन जप्ती में मात्र 2 लाख 62 लाख 900 रूपए बताई गई है. बताया तो यह भी जा रहा है कि फड़की की रकम 2 लाख 62 लाख 900 रूपए बताई गई है. जबकि अड़की की रकम लगभग 7 लाख रूपए थी. इसे देखते हुए भी संदेह की सुई पुलिस पर घुमती नजर आ रही है.

मीडिया से दूरिया बनाते दिखे पुलिस अधिकारी
जब इस संबंध में रात में थाना प्रभारी सहित कई पुलिस अधिकारियों का वर्सन लेने की कोशिश की गई तो सभी पुलिस अधिकारी एक-दूसरे के ऊपर मामला थोप रहे थे. जिससे ऐसा लग रहा था कि कही ना कही इस मामले में कुछ अधिकारियों का सरक्षण भी जुआरियों को था.

संतोष के कहने पर शुरू हो था जुआ
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस के एक बड़े अधिकारी के कहने पर संतोष ने जुआ खेलाने वाले व्यक्ति को फोन कर कहा था कि फील्ड फिर से शुरू कर दो अब सब कुछ ठीक हो गया है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुलिस अधीक्षक ने साफ तौर पर निर्देश दिया था कि शहर में किसी भी प्रकार का जुआ, सट्टा नहीं चलेगा और यदि शिकायत मिलती है तो इस पर कार्यवाही की जाएगी.